Saturday, 14 November 2015

Paris Attacks

मजहब की किताबों का हवाला मत दे ऐ हैवान 
जिहाद शब्द तो उसमें कहीं पढ़ाया ही नहीं जाता 

#Paris_Attacks

No comments:

Post a Comment